Facebook-old-logo
facebook Inc. old logo

एक बार फिर से पिछले रिकॉर्ड को दोहराते हुए भारत पिछले साल जुलाई से दिसंबर के बीच Facebook से उपयोगकर्ता डेटा माँगने के अनुरोधों की संख्या के पैमानें पर ऐसा करने वालों में दूसरे स्थान पर रहा।

दरसल इस मामलें में पहले स्थान पर अमेरिका काबिज है, जिसके बाद भारत ने एक बार फिर से दूसरे स्थान पर जगह बनायीं है। यह आंकडें असल में सोशल मीडिया दिग्गज कंपनी Facebook की ट्रांसपेरेंसी रिपोर्ट में सामनें आयें हैं।

इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने उपरोक्त बताये गये अंतराल में 39,664 उपयोगकर्ताओं और अकाउंट्स के डेटा के लिए करीब 26,698 अनुरोध किए थे।

Facebook ने यह भी बताया कि इनमें से कंपनी ने 57% अनुरोधों का अनुपालन किया। आपको बता दें सरकार के अनुरोधों के आंकड़ों ने पहली बार 2013 के शुरुआती छह महीनों के दौरान ही अकेले 3,245 अनुरोधों का सबसे अधिकतम आँकड़ा छुआ था।

वहीँ Facebook ने कहा कि इन अनुरोधों का अनुपालन कानून और कंपनी की सेवा शर्तों के अनुसार करते हुए डेटा साझा करने को लेकर निर्णय लिया गया। साथ ही साथ कंपनी ने प्रमुखता से यह बात भी रखी कि कुछ अनुरोधों की कानूनी रूप से पर्याप्तता को जाँचने आदि के बाद संतोषजनक न पानें की स्थिति में उन्हें अस्वीकार भी कर दिया गया।

आपको बता दें 26,698 अनुरोधों में से लगभग 7% आपातकाल से संबंधित थे, जहां कानून प्रवर्तन, कानूनी प्रक्रिया के बिना अनुरोध करने में सक्षम होता है।