aarogya-setu

पिछले कुछ दिनों से COVID-19 को लेकर भारत सरकार द्वारा पेश की गयी Aarogya Setu ऐप हैकिंग, उपयोगकर्ता डेटा सुरक्षा आदि जैसे विवादों से घिरी हुई है।

लेकिन अब इकॉनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार सरकारी अधिकारियों ने सामने आकर पेशेवर हैकर Elliot Alderson द्वारा Aarogya Setu ऐप के हैक होनें जैसे दावों का खंडन किया है। जी हाँ! दरसल सरकार की ओर से इन अधिकारीयों ने ऐसे दावों को निराधार बताते हुए कहा;

“Aarogya Setu ऐप में किसी भी तरह की हैकिंग या प्राइवेसी सुरक्षा के साथ खिलवाड़ नहीं हुआ है। दरसल ऐसे आरोप बेवजह से लोकेशन और डेटा स्थानांतरण के संबंधों के आधार पर लगाये जा रहें हैं। ऐप के जरिये किसी भी लोकेशन पर किसी भी तरह के डेटा को लीक नहीं होने दिया गया है।”

“आज जब हम एक महामारी से लड़ रहें हैं ऐसे में लोगों का ध्यान इस महत्वपूर्ण विषय से भटकाने की कोशिशों के तहत ऐसे प्रयास किये जा रहें हैं। इस वक़्त नैतिकता अहम होनी चाहिए।”

आपको याद दिला दें कि Alderso ने मंगलवार को यह दावा किया था कि पीएमओ कार्यालय में पांच लोग अस्वस्थ महसूस कर रहें हैं, जिनमें से दो भारतीय सेना मुख्यालय, एक व्यक्ति भारतीय संसद और तीन गृह मंत्रालय कार्यालय से संबंधित हैं।

Alderso के दावें के अनुसार एक साइबर हैकर अपने आसपास की लोकेशन से परे भी यह आसानी से जान सकता है कि कौन संक्रमित व अस्वस्थ है। Alderso ने ट्वीट के जरिये बताया कि वह आसानी से बता सकतें हैं कि पीएमओ कार्यालय या भारतीय संसद में कौन बीमार था या फिर किसी के घर में कौन बीमार है।

वहीँ ईटी की रिपोर्ट के अनुसार Aarogya Setu टीम ने एक दिन पहले ही यह बयान जारी किया था कि उन्हें ऐप पर संभावित सुरक्षा खामी मुद्दे को लेकर एक हैकर द्वारा सतर्क किया गया है, और उन्होनें उससे संपर्क किया है। टीम के अनुसार;

“हमनें बताया गया कि ऐप द्वारा कुछ हालतों में उपयोगकर्ता के लोकेशन को एक्सेस किया जा रहा है। हम बताना चाहेंगें कि यह ऐप डिजाइन का ही हिस्सा है, जिसका जिक्र ऐप के प्राइवेसी पॉलिसी में साफ़ तौर पर किया गया है। ऐप उपयोगकर्ता लोकेशन प्राप्त कर उसको सुरक्षित एन्क्रिप्टेड सर्वर पर अनाम तरीके से स्टोर करता है।”

इस बीच टीम का यह भी दावा रहा कि होम स्क्रीन पर रेडियस पैरामीटर पूर्व निर्धारित हैं, जिन्हें 500 मीटर, 1 किमी, 2 किमी, 5 किमी और 10 किमी में बाँटा गया है। और साथ ही यह पैरामीटर HTTP के साथ पोस्ट किये गये हैं मलतब यह की इस पाँच सेटिंग के अलावा कोई भी अन्य रेडियस सेटिंग डालने पर ‘दूरी’ HTTP Header के जरिये खुद-ब-खुद 1 किमी में सेट हो जाती है।