जैसा की संभावित था भारत में चल रहे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को भले तीसरी बार बढ़ा दिया गया हो, लेकिन इस बार कुछ राहत जरुर प्रदान की गयी है।

दरसल इस बार मिली सबसे बड़ी राहत के तहत अब सरकार द्वारा निर्धारित ‘ऑरेंज’ और ‘ग्रीन’ जोन्स में ई-कॉमर्स कंपनियों जैसे Amazon व Flipkart और कैब सेवा प्रदाताओं Uber व Ola को सामान्य संचालन की मंजूरी दे दी गयी है। आपको पता ही होगा कि भारतीय जिलों को कोरोनो वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या के अनुसार रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन्स में बाँटा गया है।

जैसा कि शुरू में सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल आवश्यक वस्तुओं जैसे किराने का सामान और दवाइयों आदि के संबंध में ही डिलीवरी की मंजूरी दी थी। लेकिन कुछ ही हफ्ते पहले इन कंपनियों को इलेक्ट्रॉनिक्स आदि जैसे गैर-आवश्यक सामानों को लेकर भी इजाज़त दी गयी थी।

लेकिन अब सिर्फ और सिर्फ ‘ग्रीन’ और ‘ऑरेंज’ जोन्स में इन कंपनियों को सामान्य संचालन की इजाजत है, लेकिन इतना जरुर है कि अगर इन कंपनियों का कोई गोदाम या विक्रेता ‘रेड’ जोन में है, तो उन्हें अभी भी थोड़ी परेशानी और पाबंदियों का सामना कर पड़ सकता है। इस बीच इतना जरुर है कि सरकार ने इन कंपनियों को ड्यूटी कर रहे डिलीवरी स्टाफ की भी सुरक्षा के सख्त निर्देश दिए हैं।

दिलचस्प यह है कि पिछले महीनें भी सरकार ने ऐसी ही कुछ छूट ई-कॉमर्स कंपनियों को देनी चाही। लेकिन बाद में स्थानीय खुदरा व्यावसायियों आदि की शिकायतों के बाद इस आदेश को वापस लेना पड़ा था।

बहरहाल! लोगों के लिए एक और राहत की बात यह भी है कि कैब सेवाओं जैसे Uber और Ola आदि को भी ऑरेंज और ग्रीन जोन में सेवाएं शुरू करने की मंजूरी मिल गयी है। दोनों कंपनियां ड्राइवर और यात्री सुरक्षा को लेकर कुछ निश्चित उपायों के साथ संचालन कर सकती हैं।

लेकिन इतना जरुर है कि Uber ने संचालन के लिए सुरक्षा उपायों की एक लंबी लिस्ट तैयार की है। इसमें सरकारी दिशा-निर्देशों के अनुसार डिजिटल भुगतान, मास्क पहनना और यात्रियों की अधिकतम संख्या दो तक सीमित रखना भी शामिल है। आपको बता दें अगर ड्राइवर मास्क नहीं पहन रहा है तो राइडर्स राइड कैंसिल भी कर सकते हैं।

वहीँ Ola ने भी कुछ ऐसे ही दिशानिर्देश जारी करते हुए 100 शहरों की सूची पेश की है जो ऑरेंज और ग्रीन क्षेत्रों में आते हैं और कंपनी जहाँ अपना संचालन शुरू करने जा रही है।

लेकिन इतना जरुर बता दें कि यह सेवाएं फ़िलहाल रेड जोन के क्षेत्रों में उपलब्ध नहीं हैं। इतना ही बल्कि तीनों जोन्स में हवाई, रेलवे और मेट्रो सेवाओं के साथ ही साथ स्कूल, कॉलेज और अन्य संस्थान भी बंद ही रखी गयी हैं, और फ़िलहाल हालातों को देखते हुए ऐसा लगता है कि इनका वापस से शुरू हो पाना अभी थोड़ा मुश्किल ही है।