Facebook-old-logo
facebook Inc. old logo

महामारी के वक़्त काफी प्रमुखता से दुनिया भर में लोग एक-दूसरे की मदद या फिर दान आदि के जरिये सामाजिक मदद की करने के प्रयास कर रहें हैं।

और भारत में कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के इन्हीं प्रयासों को बल देने के उद्देश्य से दुनिया की सोशल मीडिया दिग्गज कंपनी Facebook ने COVID-19 से जुड़ी डोनेशन इत्यादि के लिए Fundraising प्लेटफार्म की घोषणा की है।

इस सुविधा के जरिये 70 चैरिटियों को देश भर के बड़े उपयोगकर्ता आधार से कुछ ही क्लिक में डोनेशन प्राप्त करने में मदद मिल सकेगी।

जैसा कि हम जानते हैं कि फ़िलहाल Facebook भी कोरोना वायरस से संबंधित सही जानकारी प्रदान करने, गलत सूचनाओं के प्रसार को रोकने और स्थानीय समुदायों, व्यवसायों व दान का समर्थन करने के लिए काम कर रहा है।

लेकिन अब इस नए लॉन्च किए गए प्लेटफॉर्म को लेकर Facebook India के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, अजीत मोहन ने कहा,

“देश भर के समुदायों को मदद की आवश्यकता है। और इसलिए आज Facebook Fundraisers के लॉन्च के साथ, हमनें लोगों के इन प्रयासों को बल देते हुए इस मुश्किल घड़ी में राहत की दिशा में एक योगदान करने की कोशिश की है।”

इस प्लेटफ़ॉर्म के जरिये उपयोगकर्ता फंड एकत्रित करने के लक्ष्य के साथ एक विशेष पेज बना सकतें हैं। साथ ही Facebook के जरिये इक्कठा की गयी डोनेशन का 100% पैसा दान में जाएगा और उपयोगकर्ता कई गैर-लाभकारी संगठनों को डोनेशन दे सकतें हैं जैसे Goonj, The Akshayapatra Foundation, Helpage India आदि।

लेकिन इस बीच जहाँ एक तरफ पैसों के दान आदि के जरिये राहत की कोशिशें की जा रहीं हैं, वहीँ अब इसको लेकर धोखाधड़ी भी काफ़ी तेज हो गयी है। हाल ही में ही कई ऐसी घटनाएं सामने आयीं जहाँ गलत UPI ID के जरिये PM CARE FUND में पैसा देने की अपील की गयी।

लेकिन इस तरह की धोखाधड़ी को रोकने के लिए भी Facebook ने अब GiveIndia के साथ साझेदारी की है, जो एक विश्वसनीय चैरिटी प्लेटफार्म के रूप में जाना जाता रहा है। इसके साथ ही किसी भी संगठन को डोनेशन आदि के लिए पंजीकृत होने से पहले एक निश्चित मानदंडों को पूरा करना होगा जिसमें दस्तावेजों की एक लंबी सूची भी शामिल है।

इन सबके बाद ही कोई गैर-लाभकारी संगठन Facebook Payments में सफलतापूर्वक रजिस्टर कर सकता है। साथ ही आपको बता दें Facebook ने भुगतान समाधान के लिए RazorPay से भागीदारी की है।

इसके साथ ही यह सुविधा एक निजी Fundraiser का विकल्प भी प्रदान करती है, जहाँ डोनेशन पेज के क्रिएटर के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाती है। लेकिन भले डोनेशन लेना संभव है, लेकिन भारत में फ़िलहाल व्यक्तिगत फंड का विकल्प उपलब्ध नहीं है।

इसके साथ ही उपयोगकर्ता को दान के लिए प्रेरित करने के लिए कंपनी ने 150 से अधिक हस्तियों, रचनाकारों और प्रकाशकों के व्यक्तिगत अकाउंट के जरिये लाइव इवेंट ‘social-for-good live-a-thon’ का भी ऐलान भी किया था। 24 अप्रैल से शुरू होने वाला यह इवेंट एक हफ्ते तक 350 फॉलोवर्स का प्रतिनिधित्व करता नज़र आएगा।

आपको बता दें COVID-19 के दौरान राहत के मकसद से पेश की गयी इस सुविधा को Facebook ने अपने कम्युनिटी हेल्प हब के विस्तार के बाद पेश किया है। इस सुविधा को सबसे पहले कंपनी ने 2017 में लांच किया था जिसका मकसद आपदा आदि के समय लोगों को मदद की पेशकश हेतु जोड़ने का था।