9unicorns-announces-fifth-closure-at-rs-750-cr-fund

मौजूदा समय में महामारी के चलते भारत सहित अन्य कई देशों में चल रहे लॉकडाउन की वजह से अधिकांश व्यापार जगत आर्थिक रूप से बेहद बुरी तरह प्रभावित हो रहा है।

लेकीन मौजूदा हालातों में एक ऐसे क्षेत्र जरुर है जिसमें काफ़ी माँग दर्ज की जा रही है, और वह है डिजिटल लोन क्षेत्र। जी हाँ! पर्सनल लोन हो या बिज़नेस लोन, दोनों में बराबर माँग बढ़ती दर्ज की जा रही है।

भले भारत जैसे देशों में स्थिति को सँभालने के लिए सरकारों द्वारा भी राहत पैकेज इत्यादि के जरिये प्रयास किये जा रहें हैं, लेकिन जानकारों की मानें तो क्यूंकि लोगों की कमाई इस बीच काफी प्रभावित हुई है, इसलिए डिजिटल लोन जगत में माँगों में बढ़ोतरी देखी जा सकती है।

वहीँ अन्य सभी की ही तरह मौजूदा समय में संघर्ष कर रहे स्टार्टअप्स और निवेशक जगत ने भी अब इसको एक बेहतरीन अवसर के रूप में देखना शुरू कर दिया है। और इसका एक उदाहरण आज देखने को मिला।

दरसल उपभोक्ताओं और छोटे व्यवसायों को ऑनलाइन लोन की सुविधा प्रदान करने वाले भारत आधारित Capital Float को अपने मौजूदा निवेशकों द्वारा नए निवेश के रूप में $15 मिलियन की राशि प्राप्त हुई है।

आपको बता दें इस नए निवेश दौर में Ribbit Capital, Amazon, SAIF Partners और Sequoia Capital India जैसे नाम शामिल रहे। दिलचस्प यह है कि इस नए दौर की घोषणा कंपनी ने जनवरी में ही कर दी थी, और अब कंपनी ने इस दौर के $15 मिलियन के साथ पूरे होने का ऐलान भी कर दिया है।

बहरहाल! Capital Float के अनुसार कंपनी इस नयी राशि का उपयोग अपने पूंजी आधार को बढ़ाने और छोटे व्यवसायों और उपभोक्ताओं के लिए अपने लोन संचालन को बढ़ाने में करेगा।

गौर करने वाली बात यह है कि इस नए निवेश के साथ अब Capital Float द्वारा अब तक हासिल किया गया कुल इक्विटी निवेश करीब 800 करोड़ रूपये ($125 मिलियन) पहुँच गया है। साथ ही मौजूदा चलन के हिसाब से कंपनी डेबिट फंडिंग के रूप में भी करीब 2,200 करोड़ ($300 मिलियन) की राशी जुटा चुकी है।

दरसल स्पष्ट रूप से कोरोनो वायरस महामारी की वजह से पैदा हालातों के बीच Capital Float अपने लोन प्रदान करने के कारोबार को सुचारू ढंग से चलाये रखने के लिए इस निवेश दौर को जल्द से जल्द पूरा करना चाहती थी।

इस बीच Capital Float के सह-संस्थापकों, साशंक ऋषिश्रिंग और गौरव हिंदुजा ने अपने बयानों के जरिये जाहिर किया कि;

“ऐसे समय में जब उद्योग को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, हम इस बेहद जरूरी क़दम को लेकर काफी खुश हैं और इसके जरिये हम देश भर में SMEs और उपभोक्ताओं को आसानी से लोन प्रदान करने की अपनी सेवाओं की पेशकश करते रहेंगें।”

“साथ ही लॉकडाउन के हटते ही हम SMEs और उपभोक्ता लोन संबंधी माँगों को पूरा करने के लिए अपनी क्षमता को बढ़ाने के लिए भी उत्सुक हैं।”

दरसल यह एक स्वाभाविक कदम है, और बेशक कंपनी को इससे खासा फायदा हो सकता है। दरसल लॉकडाउन के चलते पारंपरिक बैंकिंग और माइक्रो-फाइनेंस सेवा प्रदाताओं (MFIs) को सामान्य रूप से अपना संचालन करने में काफी कठिनाई हो रही है।

यहाँ तक की भारत के बैंकिंग नियामक रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा कई महत्वपूर्ण कदमों के बाद भी बैंकों और MFIs के लिए हालात कठिन होते जा रहें हैं। कारण भी है, व्यवसाय ठप पड़े हैं, और ऐसे में वह अपनी किश्तें नहीं भर पा रहें हैं।

एक और कारण यह भी है कि महामारी से पहले भी भारत की अर्थव्यवस्था बहुत अच्छी हालत में नहीं थी और जिसके चलते बैंकिंग क्षेत्र में पहले से ही तनाव की स्थिति बनी हुई थी।

इसलिए माना यह जा रहा है कि एक बार लॉकडाउन हटते ही तुरंत आर्थिक मदद/लोन हासिल करने के लिए बिज़नेस तकनीक आधारित डिजिटल लोन प्रदाताओं की ओर ही रुख करेंगें, जो काफी कम समय में लोन प्रदान करने में सक्षम होते हैं।

इस बीच Capital Float के आंकड़ों को देखें तो कंपनी अब तक भारत में आधा मिलियन से अधिक ग्राहकों को $1.2 बिलियन (करीब 8,800 करोड़ रूपये) से अधिक का लोन वितरित कर चुकने का दावा करती है। साथ ही कंपनी के दावों के अनुसार इसका ग्राहक आधार देश के 300 शहरों में फैला हुआ है, जिसमें SMEs और उपभोक्ता दोनों शामिल हैं।

इस बीच नयी राशि के बाद से अब Capital Float ने SMEs के लिए अपने FAST Loans (Fully Automated Small Term Loans) उत्पाद के साथ अपनी लोन सेवाओं को विस्तृत करना शुरू कर दिया है। यह विशेष रूप से भारत में SMEs के लिए लोन हासिल करने की प्रक्रिया को पूरी तरह डिजिटल बनाने के उद्देश्य से डिज़ाइन किया गया है, जिसमें टीयर 2 और टीयर 3 बाजारों पर जोर दिया गया है।

इसके साथ ही कंपनी ने अपने उपभोक्ताओं के लिए भी ऐसी ही Online Checkout Financing सुविधा को बढ़ाने का काम शुरू किया है, जिसमें Amazon इसका मुख्य भागीदार है। बता दें इसके Personal Finance Management (PFM) एप को Walnut के नाम से जाना जाता है

आपको बता दें Walnut ने हाल ही में एक डिजिटल COVID बीमा और “Find a Store” नामक सुविधाओं का आगाज़ भी किया है, जिसका मकसद वर्तमान लॉकडाउन के समय उपयोगकर्ताओं की मदद करना है।

इस बीच हाल ही में ही Capital Float ने जापान के सबसे बड़े वित्तीय संस्थानों में से एक Credit Saison के साथ एक नई साझेदारी की भी घोषणा की थी। इसके तहत कंपनी पूरे भारत में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) को संचालन पूंजी प्रदान करेगी।