flipkart-xtra

कल ही हमनें आपको बताया था कि Flipkart ने भारत भर में अपनी सभी सेवाओं को अस्थाई रूप से बंद कर दिया है। लेकिन अब देशभर में लागू हुए लॉकडाउन से ई-कॉमर्स को छुट देने के सरकार के फैसले के बाद अब कंपनी का रुख थोड़ा बदला जरूर है।

दरसल रिपोर्ट्स के अनुसार Flipkart जल्द ही देश में किराने या ग्रोसरी जैसे जरूरी सामानों की डिलीवरी सेवाएं शुरू कर सकता है।

दरसल देश भर में लॉकडाउन के बीच सरकार के कई अस्पष्ट निर्देशों के कारण देश भर में ई-कॉमर्स रिटेलर्स और डिलीवरी पार्टनर्स को राज्य पुलिस द्वारा कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था।

लेकिन इस बीच Flipkart के सीईओ कल्याण कृष्णमूर्ति ने ट्वीट के माध्यम से यह साफ़ किया कि सरकार और स्थानीय अधिकारियों ने देश में लॉकडाउन के दौरान भी ई-कॉमर्स के कामकाज पर को सुचारू रूप से चलते रहने देने की बात कही है।

दरसल देश भर में 24 मार्च को रात 12 बजे से 21 दिनों के लिए लागू लॉकडाउन में भी ई-कॉमर्स कंपनियों को आवश्यक सेवाओं की डिलीवरी के लिए छूट दी गयी थी। लेकिन देशभर में पुलिस इत्यादि के बीच इस फैसले के स्पष्ट न होने के कारण कई डिलीवरी पार्टनर्स को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था।

इसके लिए देश के लगभग सभी प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्मों ने अपने डिलीवरी स्टाफ की सुरक्षा और स्थानीय अधिकारियों द्वारा उनके उत्पीड़न की शिकायत के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र भी लिखा।

जिसके बाद Flipkart Group के CEO कल्याण कृष्णमूर्ति ने News18 से कहा,

“हमें स्थानीय अधिकारियों द्वारा हमारे डिलीवरी पार्टनर्स की सुरक्षा और उनको सुर्चारू रूप से काम करने देने का आश्वासन दिया गया है।”

“हम अपने कर्मचारियों और उपभोक्ताओं के लिए एक सुरक्षित और मजबूत डिलीवरी चेन को जारी रखेंगें और ग्राहकों को हर जरूरी सामान पहुँचाने में उनकी मदद करेंगें।”

आपको बता दें Grofers, Big Basket, और Milk Basket ने पुलिस द्वारा उनके डिलीवरी पार्टनर्स और गोदाम मालिकों को परेशान किये जाने के कई मामलों के चलते भारी नुकसान की भी बात कही। इस बीच आपको बता दें कल देश के एक और सबसे बड़े ई-कॉमर्स प्लेटफार्म में शुमार Amazon ने भी कल गैर-जरूरी सामानों की डिलीवरी सेवाओं को बंद करने का फैसला किया है।

इस बीच हालाँकि अब तक Flipkart ने अपनी जरूरी सामानों को डिलीवर करने संबंधी सेवाओं को चालु नहीं किया है। वैसे ऐसे हो सकता है कि कंपनियां पहले अपने पुराने ऑर्डर्स को पूरा करने के बाद ही नए आर्डर लेने के लिए सेवाओं की शुरुआत करें। लेकिन आप बेफिक्र रहिये ऐसा होते ही हम आपको सबसे पहले अपडेट करेंगें।

वहीँ इस बीच सरकार ने देश भर में COVID-19 के टेस्ट के लिए 16 निजी लैब चेन को भी लाइसेंस जारी कर देश में प्राइवेट टेस्टिंग का रास्ता साफ कर दिया है।

साथ ही प्रधानमंत्री मोदी जी जनता को यह भी आश्वासन दिया है कि देश में जरूरी सामानों की आपूर्ति बहुतायत में है और इसलिए किसी भी प्रकार से घबराएं नहीं।

साथ ही उन्होनें बार बार लोगों से घर में ही रहने की अपील की। साथ ही सरकार ने देश के मौजूदा हालातों से निपटने के लिए मेडिकल सुविधाओं में 15,000 करोड़ (करीब $2 बिलियन) के निवेश का भी ऐलान किया है, ताकि भारत COVID-19 प्रसार के “फेज 3” के लिए तैयार रह सके।

हाल ही में पुणे स्थित निदान कंपनी MyLabs ने घोषणा की थी कि उसने एक COVID-19 टेस्टिंग किट विकसित की है और पहले से ही “भारत में निर्मित” इस टेस्टिंग किट के लिए सरकारी मंजूरी प्राप्त कर चुकी है। यह किट टेस्टिंग के समय को 4 घंटे से कम करके 2.5 घंटे कर देती है।