लोगों को ऐप का उपयोग करके आसानी से छोटी राशि वाले लोन प्रदान करने वाला स्टार्टअप, SmartCoin अपने ताज़ा सीरीज-ए फंडिंग दौर में $7 मिलियन का निवेश हासिल करने में सफ़ल रहा है।

आपको बता दें इसकी घोषणा खुद SmartCoin ने की और साथ ही यह भी बताया कि यह राशि कंपनी को LGT LightstoneAspada और मौजूदा निवेशकों Unicorn India Ventures व Accion Venture Lab से मिली है।

बता दें यह ऐप आधारित लोन प्रदाता प्लेटफॉर्म सभी प्रकार के उपभोक्ताओं को विभिन्न प्रकार के लोन प्रदान करने संबंधी सेवा प्रदान करता है। इन लोनों को छोटे व्यापारी से ख़ुद का व्यापार करने वाले शख्स या वेतनभोगी व्यक्ति भी हासिल कर सकतें हैं।

कंपनी के अनुसार अधिकांश तौर पर छोटे व्यापारियों द्वारा कार्यशील पूंजी, डिलीवरी अधिकारियों द्वारा ईंधन और वाहन की मरम्मत के तौर पर या फ़िर ब्लू/ग्रे कॉलर कर्मचारियों द्वारा आपातकालीन चिकित्सा जरूरतों के लिए प्लेटफ़ॉर्म से लोन लिया जा रहा है।

वहीँ SmartCoin के सह-संस्थापक रोहित गर्ग ने एक बयान में कहा;

“हमारा लक्ष्य औपचारिक बैंकिंग प्रणाली के नजरिये से अयोग्य लोगों तक भी लोन संबंधी सुविधा को पहुँचाना है। लोन से वंचित एक बड़े वर्ग और मजबूत पोर्टफोलियो प्रदर्शन के चलते SmartCoin को भीड़-भाड़ वाले फिनटेक बाजार में अपनी जगह बनाने में काफी मदद मिल रही है।”

साथ ही उन्होंने कंपनी द्वारा इस तरह के लोन से जुड़े जोखिमों का प्रबंधन करने के बारे में बताते हुए कहा;

“हमारे खुद के बनाये आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस/मशीन लर्निंग संचालित जोखिम-मूल्यांकन इंजन मिनटों के भीतर लोन आवेदनकर्ता का मूल्यांकन कर, तुरंत ही स्वचालित प्रक्रिया के माध्यम से लोन प्रदान करते हैं।”

“हमारी ये आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस/मशीन लर्निंग तकनीकी एल्गोरिदम वास्तविक समय में एक संभावित उधारकर्ता की जोखिम प्रोफाइल का आकलन करने और सब ठीक होने पर उसको तुरंत ही डिजिटल तरीके से लोन देने में सक्षम है। कंपनी असल में ग्राहक के वित्तीय व्यवहार संबंधी आंकड़ों का उपयोग करके अपनी मौजूदा तकनीकी एल्गोरिदम को और अधिक सुधारने व विस्तारित करने की योजना बना रही है।”

इस बीच आपको बता दें SmartCoin इस प्राप्त राशि का उपयोग मुख्यतः अपनी लोन श्रृंखला पेशकश को विकसित करने में कर सकता है। साथ ही कंपनी ने अपने आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस/मशीन लर्निंग आधारित प्लेटफ़ॉर्म को आगे बढ़ाने और नए उत्पादों को लॉन्च कर, अपने उपयोगकर्ता आधार को 10 मिलियन तक बढ़ाने के लिए अपनी डेटा साइंस टीम का भी विस्तार करने की योजना बनाई है।

याद दिला दें 2017 से ही SmartCoin ने सुर्खियाँ बटोरना शुरू कर दिया था। और अब कंपनी भारत के सभी राज्यों के करीब 95% से अधिक जिलों में ग्राहकों को अपनी सेवाएं प्रदान करने का दावा करती है।

कंपनी फ़िलहाल अपने पांच मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता आधार के साथ क़रीब आधे मिलियन ग्राहकों को लगभग 400 करोड़ रूपये (लगभग $57 मिलियन) से अधिक का लोन दे चुकने का दावा भी करती है। असल में इस कंपनी को RBI से अक्टूबर 2019 में NBFC लाइसेंस मिला था, जिससे यह छोटे व्यवसाय के लिए लोन की तलाश करने वालें बड़े ग्राहक वर्ग को आकर्षित करती है।

इतना ही नहीं बल्कि यह कंपनी 2019 में एकमात्र ऐसा फिनटेक स्टार्टअप थी, जो Google के Launchpad Accelerator प्रोग्राम के साथ ही साथ उन्नत डेटा और मोबाइल-फर्स्ट दृष्टिकोण के लिए इसके App Excellence प्रोग्राम को भी सलतापूर्वक हासिल कर पाई थी।