अभी कल ही एक ऐसी रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें Apple द्वारा करीब 1 महीनें के लम्बें समय अंतराल के बाद चीन में अपने सभी स्टोर्स को खोलने की अटकलें लगाई जा रहीं थी।

लेकिन जरा रुकिए! Apple ने आज अपनी एक घोषणा में बताया कि कंपनी ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को ध्यान में रखते हुए ग्रेटर चीन के बाहर स्थित अपने सभी स्टोर्स को 27 मार्च तक बंद करने का फ़ैसला किया है।

दरसल कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर पोस्ट किए गए एक पत्र में Apple के सीईओ Tim Cook ने बताया कि यह फ़ैसला पूरी तरह से COVID-19 के बढ़ते वैश्विक प्रकोप के चलते लिया गया है।

इस पत्र के जरिये Tim Cook ने लिखा

“COVID-19 के वैश्विक प्रकोप ने हम सभी को प्रभावित कर रखा है। Apple में हमेशा लोगों को पहली प्राथमिकता देते हैं और कंपनी का विश्वास है कि तकनीक लोगों के जीवन को बदलने और उन्हें उम्मीद प्रदान करने का सबसे बेहतरीन जरिया है।”

इस बीच आपको बता दें कि कंपनी अपने ऑनलाइन स्टोर का संचालन जारी रखेगी। जिसके बारे में Tim Cook ने खुद बताते हुए कहा;

“हम अपने ग्राहकों को शानदार सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारे ऑनलाइन स्टोर www.apple.com पर खुले हैं, या फ़िर इसके लिए आप ऐप स्टोर पर Apple Store ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं।”

“साथ ही सेवाओं और सपोर्ट के लिए ग्राहक support.apple.com पर जा सकते हैं। मैं हमारी असाधारण पूरी रिटेल टीम को हमारे ग्राहकों के जीवन को समृद्ध बनाने के लिए लगातार किये जा रहें कामों और उनके समर्पण के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।”

इस बी पत्र में Tim Cook ने कोरोना वायरस के प्रकोप का मुकाबला करने और इसे रोकने के लिए कंपनी के मौजूदा प्रयासों के बारे में भी विस्तार से बताया।

Cook ने कहा कि कंपनी ग्रेटर चीन के बाहर दुनिया भर में अपने कर्मचारियों के लिए काम के तरीकें को लचर बनाने का काम कर रही है। इस व्यवस्था के तहत टीम के सदस्यों की प्रोफाइल अगर उन्हें इजाज़त देती है, तो वह कहीं से भी काम कर सकतें हैं। वहीँ जिन्हें अपने काम के चलते बाहर जाना ही पड़ता है, उन्हें भी कंपनी द्वारा लोगों से उचित दूरी बनाये रखते हुए सभी आवश्यक गाइडलाइन की जानकारी दी जा रही है।

इसके साथ ही Tim ने यह भी बताया कि Apple द्वारा वैश्विक तौर पर COVID-19 से लड़ने की दिशा में जरुरतमंदों के इलाज़ और इस महामारी के आर्थिक व सामुदायिक प्रभावों को कम करने में मदद हेतु बनाये गये चैरिटी फंड से अब तक कुल $15 मिलियन की मदद पहुंचाई जा चुकी है।

वहीँ कंपनी ने स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर COVID-19 से लड़ने के प्रयासों के तहत कर्मचारियों के बीच आपसी योगदान की प्रक्रिया भी शुरू की है।