इस बात में कोई शक नहीं कि आजकल ऐप्स में ज्यादातर लोगों को ‘डार्क मोड’ पसंद है और ऐसे में जब बात WhatsApp जैसे सबसे लोकप्रिय चैटिंग ऐप की हो तो भला इसके डार्क मोड की मांग करने वाली की संख्या कम कैसे रह सकती है।

दरसल पिछले करीब एक साल से अटकलों और संभावनाओं के लम्बें दौर के बाद आज आख़िरकार WhatsApp ने सभी Android और iOS उपयोगकर्ताओं के लिए बहुप्रतीक्षित ‘डार्क मोड’ फीचर लॉन्च कर दिया है।

दरसल काफी समय से इसका बीटा संस्करण परीक्षणों के दौर में था और अब जाकर इसके सार्वजनिक रोलआउट का ऐलान किया गया है। बता दें यह डार्क मोड फीचर धीरे-धीरे दुनिया भर में 2 बिलियन WhatsApp उपयोगकर्ताओं को मुहैया करवाया जाएगा।

इस बीच लंबे समय से माँग में रहा यह फीचर वीडियो लॉन्च के जरिये पेश किया गया। यह “Hello Darkness” शीर्षक वाला वीडियो असल में Paul Simon के “The Sound of Silence” नामक एक अन-रिलीज़ड संस्करण के साथ नज़र आता है।

आपको बता दें आधिकारिक तौर पर सभी उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध यह सुविधा, उन उपयोगकर्ताओं के लिए स्वचालित रूप से काम करने लगेगी, जो iOS 13 और Android 10 के तहत अपने सिस्टम पर डार्क थीम मोड में ऑन रखें हुए हैं।

लेकिन इससे परे अन्य उपयोगकर्ताओं को WhatsApp सेटिंग्स में जाकर थीम विकल्प के माध्यम से डार्क मोड में स्विच करने की आवश्यकता होगी। इतना बता दें कि अभी इस सुविधा को लॉन्च कर दिए जाने का मलतब है कि अब यह धीरे धीरे सभी WhatsApp उपयोगकर्ताओं तक पहुँचेगी, और यह जरूरी नहीं कि आप अभी ही इस सुविधा का लाभ उठाना शुरू कर सकें।

लेकिन आप यह सुनिश्चित करने के लिए Google Play Store या ऐप स्टोर के माध्यम से WhatsApp ऐप को अपडेट कर सकतें हैं।

वहीँ बता दें कि Android और iOS के लिए डार्क मोड फीचर अलग-अलग शेड्स में जारी किया गया है। iOS 13 पर यह शुद्ध ब्लैक है जबकि Android 10 में यह थोड़ा गहरा ग्रे शेड में नज़र आता है।

दरसल यह काफी दिलचस्प है, क्यूंकि WhatsApp ने भी यह जाहिर किया है कि इन दोनों थीमों को काफी रिसर्च के बाद डिस्प्ले इत्यादि पैमानों पर परखने के बाद ही जारी किया गया है। इसके भी दो पहलु हैं, पहला जिसमें कंपनी ने यह सुनिश्चित किया कि iOS और Android दोनों ही सिस्टमों पर कंटेंट पढने योग्य बना रहें और दूसरा इस बात का भी ध्यान दिया गया कि ऐप के भीतर एलिमेन्ट के रंगों के बीच मैसेज सही ढंग से उभर कर आएं।

दरसल एक साथ इन सभी बातों का ख्याल रखते हुए तैयार की गई इस थीम में मोबाइल डिस्प्ले की ब्राइटनेस सबको ध्यान में रखते हुए, कंटेंट को पढ़ने में काफी सहूलियतें नज़र आती हैं।

दरसल एक सच यह भी है कि स्मार्टफोन ऐप्स में डार्क मोड तेजी से आम हो गया है क्योंकि लोग भी अब फ़ोनों के अधिक इस्तेमाल के चलते आँखों को सुकून देने वाली सुविधा का लाभ उठाना चाहतें हैं। सच भी है कि डार्क मोड से आँखों पर बहुत कम तनाव पड़ता है, विशेष रूप से रात के समय जब मोबाइल की लाइट कई बार आँखों को चुभती सी लगती है। इसके साथ ही डार्क मोड डिवाइस की बैटरी को भी बचाता है, जो इसको और आकर्षक फीचर बनाता है।