कुछ भी हो, लेकिन भारत का ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी क्षेत्र सुर्खियाँ बटोरना कभी नहीं भूलता। हाल ही में ही Zomato द्वारा Uber Eats का अधिग्रहण एक बड़ी खबर की तरह देशभर में छाया रहा।

इसके बाद उम्मीद की जा रही थी कि ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी क्षेत्र में Zomato का सबसे बड़ा प्रतिद्वंती Swiggy जल्द ही Zomato-Uber Eats की इस नई जोड़ी से आगे मुक़ाबला करने के लिए कोई दिलचस्प कदम उठा सकता है।

और अब इन्हीं उम्मीदों को सच साबित करते हुए Swiggy ने आज Prosus Ventures के नेतृत्व में अपने सीरीज I फंडिंग राउंड के रूप में $113 मिलियन की राशि हासिल करने का ऐलान किया।

आपको बता दें Uber Eats India का $350 मिलियन से अधिक में Zomato द्वारा किया गया अधिग्रहण भी आँकड़ो के लिहाज़ से हैरान करने वाला था, क्यूंकि Uber ने इसके बदले Zomato में 10% की हिस्सेदारी भी हासिल की थी।

इतना ही नहीं Zomato ने अपने प्रतिद्वंदी Swiggy से आगे रहने के लिए इस अधिग्रहण के बाद सभी मौजूदा Uber Eats उपयोगकर्ताओं को 3 महीनें की मुफ़्त Zomato Gold Membership भी प्रदान की है।

ऐसे में Zomato द्वारा बाज़ार में ग्राहकों को लुभाने के लिए इतना कुछ करने के बाद Swiggy को जरूरत थी और फंडिंग हासिल करते हुए बाज़ार में कड़ी चुनौती पेश करने की। और Swiggy ने ऐसा ही किया।

पहले तो Prosus Ventures से निवेश हासिल करना ही Swiggy के लिए काफ़ी बड़ी सफ़लता रही। लेकिन इस निवेश दौर में कंपनी की वैल्यूएशन $3.6 बिलियन ही रही, जो कंपनी के पिछले निवेश दौर के $3.3 बिलियन की वैल्यूएशन से बहुत अधिक नहीं बढ़ सकी।

वैसे इससे यह भी साफ़ जाहिर होता है कि जब तक आपके बिज़नेस मॉडल से लाभ बैलेंस शीट तक नहीं पहुँचता दिखाई देता है, आपके लिए आज भी निवेश हासिल करना मुश्किल हो सकता है।

लेकिन इसी बीच दिलचस्प रहा Swiggy के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ), श्रीहर्षा मजेटी का बयान जिसमें उन्होनें कहा;

“कंपनी प्राप्त पैसों का इस्तेमाल व्यवसायों की नई लाइनों को विकसित करने में करेगी, जिसमें गैर फ़ूड आइटमों की डिलीवरी भी शामिल है।”

वहीँ खबर यह भी है कि कंपनी लाभ कमाने के लिए क्लाउड किचन को लेकर भी अपनी क्षमताओं का प्रसार करती नज़र आ सकती है।

वैसे फ़ूड डिलीवरी जगत के आँकड़े भी काफी दिलचस्प है, जो दर्शाते हैं कि Swiggy और Zomato काफ़ी तेजी से बढ़ रहें हैं और Swiggy ने पिछले साल वॉल्यूम लेनदेन में 2.5 की वृद्धि दर्ज की थी।

लेकिन इसी के साथ ही एक सच यह भी है कि दोनों ही कंपनी अपने अपने प्रचार को लेकर भी काफी मोटा खर्च कर रही हैं, रिपोर्ट के मुताबिक यह हर महीनें करीब $20 मिलियन तक का खर्च कर देती हैं।

अगर आपके बीते कुछ समय से Swiggy का इस्तेमाल किया होगा, तो आपने इसकी ऐप पर Swiggy Go नाम से एक सेक्शन भी दिखा होगा, जहाँ कंपनी काफी किफ़ायती कीमत पर आसपास के रेस्टोरेंट इत्यादि से फ़ूड ऑर्डर करने की सुविधा भी देती है।

दरसल यह फ़ूड डिलीवरी बिज़नेस में अधिक से अधिक ग्राहकों को अपनी ओर खीचते हुए अपने राजस्व को बढ़ाने की कंपनी की योजना का ही एक हिस्सा है। लेकिंत यह सुविधा भी फ़िलहाल चुनिंदा शहरों में ही मौजूद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.