jeff-bezos-to-step-down-from-ceo-of-amazon-in-third-quarter

जलवायु परिवर्तन आज किसी एक देश के लिए ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी समस्या बनती जा रही है। लेकिन एक सुकून की बात यह भी है कि अब कई प्रभावशाली लोग इस समस्या को लेकर अपनी गंभीरता जाहिर करते हुए इस दिशा में प्रयास भी कर रहें हैं।

और अब इस लिस्ट में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति, Amazon के संस्थापक और सीईओ, Jeff Bezos ने भी अपना नाम दर्ज करवा दिया है। दरसल Jeff Bezos ने जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए एक व्यापक $10 बिलियन के फंड की घोषणा की है।

आपको बता दें Jeff ने यह ऐलान अपने Instagram पोस्ट के जरिये किया और उस पोस्ट में उन्होनें इस दिशा में आगामी कदमों की भी जानकारी दी।

इस फंड को ‘Bezos Earth Fund’ का नाम दिया गया है। इस फंड में Jeff आगामी कुछ महीनों में ही निवेश करना शुरू कर देंगें। आपको एक बार फ़िर से बता दें $129 बिलियन से अधिक की कुल संपत्ति के साथ, Jeff Bezos फ़िलहाल दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

View this post on Instagram

Today, I’m thrilled to announce I am launching the Bezos Earth Fund.⁣⁣⁣ ⁣⁣⁣ Climate change is the biggest threat to our planet. I want to work alongside others both to amplify known ways and to explore new ways of fighting the devastating impact of climate change on this planet we all share. This global initiative will fund scientists, activists, NGOs — any effort that offers a real possibility to help preserve and protect the natural world. We can save Earth. It’s going to take collective action from big companies, small companies, nation states, global organizations, and individuals. ⁣⁣⁣ ⁣⁣⁣ I’m committing $10 billion to start and will begin issuing grants this summer. Earth is the one thing we all have in common — let’s protect it, together.⁣⁣⁣ ⁣⁣⁣ – Jeff

A post shared by Jeff Bezos (@jeffbezos) on

लेकिन ऐसा भी नहीं है कि Jeff Bezos और जलवायु परिवर्तन का नाता कोई नया और सुनहरा ही है। दरसल कई बार वह इस मुद्दे पर घिरते भी नज़र आयें हैं।

जैसे हाल ही में ही Amazon के कुछ कर्मचारियों द्वारा यह आवाज़ उठाई गई कि Amazon जलवायु परिवर्तन की दिशा में सबसे पहले कंपनी के भीतर ही आवश्यक कदम उठाए। देखने वाली बात यह रही कि इन कर्मचारियों ने यह भी आरोप लगाया कि इस मुद्दे को उठाने की वजह से Jeff Bezos और उनके अधिकारी उन्हें कंपनी से निकालने का मन बना रहें हैं।

खैर! जलवायु परिवर्तन की दिशा में कंपनी के साकारात्मक पहलुओं की बात करें तो सिर्फ़ Jeff Bezos ने इस $10 बिलियन के फंड की ही घोषणा नहीं की है, बल्कि इसके साथ ही Amazon यह भी ऐलान कर चुका है कि 2040 तक कंपनी अपने संचालन को ‘शून्य कार्बन उत्सर्जन’ की दिशा देने के लिए प्रतिबद्ध है और 2030 तक यह 100% Renewable Energy का इस्तेमाल कर अपनी बिजली संबंधी जरूरतों को पूरा करेगा।

लेकिन कंपनी के लिए यह सब इतना आसान नहीं होने वाला है। और इसके कई पहलु हैं, जिनमें से मुख्य है कंपनी द्वारा पैकेजिंग को लेकर बड़ी मात्रा में प्लास्टिक का उपयोग। और यह बताने की जरुरत तो नहीं है कि प्लास्टिक पर्यावरण के लिए कितनी हानिकारक है। तो अगर कंपनी को सही मायनों में जलवायु परिवर्तन को लेकर काम करना है तो इस पहलु पर सबसे पहले ध्यान देना होगा।

वैसे एक और चीज़ है जो कंपनी के लिए बड़ी चुनौती है, और वह है Amazon द्वारा डिलीवरी इत्यादि को लेकर बड़े पैमाने पर वाहनों का उपयोग, जो ग्रीन हाउस गैसों के भारी मात्रा में उत्सर्जन के लिए ज़िम्मेदार हैं।

लेकिन इतना जरुर है कि हमें Jeff के इस $10 बिलियन के फंड को एक बेहद सकारात्मक कदम के रूप में देखना चाहिए।

Bezos ने भी अपने पोस्ट में यह साफ़ किया कि वह आने वाले महीनों से ही इस फंड में निवेश प्रारंभ कर देंगें। साथ ही उन्होनें कहा;

“मैंने जलवायु को सुरक्षित बनाने रखने की दिशा में काम करने के लिए $10 बिलियन का फंड जारी करने का मन बनाया है, और आगामी गर्मी से ही मैं इसमें निवेश शुरू कर दूँगा। पृथ्वी एक ऐसी चीज है जो हम सभी के लिए एक समान है, तो आइये एक साथ आकर इसको सुरक्षित बनाते हैं।”

दिलचस्प यह है कि NYTimes की रिपोर्ट के अनुसार इस फंड का इस्तेमाल लाभ कमाने वाली परियोजनाओं को फंड करने के लिए नहीं किया जाएगा, बल्कि इसको अनुदान के रूप में आवंटित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.