byjus-to-become-indias-most-valuable-startup-with-16-5-bn-dollar-valuation

ऐसा लग रहा है कि Byju’s के फंडिंग दौर ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहे। दरसल कंपनी एक बार फ़िर से नए फंडिंग दौर की वजह से सुर्ख़ियों में है।

Byju’s ने शुक्रवार को जानकारी साझा करते हुए बताया कि कंपनी के मौजूदा निवेशक General Atlantic ने एक बार फ़िर से कंपनी में $200 मिलियन का निवेश किया है।

लेकिन हम यह स्पष्ट कर दें कि निवेश की राशि का ख़ुलासा कंपनी की ओर से नहीं किया गया है। दरसल TechCrunch के हवाले से एक सूत्र ने बताया कि न्यूयॉर्क स्थित General Atlantic ने भारत के Ed-Tech स्टार्टअप, Byju’s को $200 मिलियन का चेक सौंपा है।

आपको बता दें ठीक इसी प्रकार से कंपनी ने इस साल जनवरी में अपने एक और मौजूदा निवेशक Tiger Global से भी $200 मिलियन का निवेश हासिल किया था। वही Paper.vc के माध्यम से सामने आई जानकारी के अनुसार इसके पहले 2018 में General Atlantic ने कंपनी में 3.85% हिस्सेदारी के लिए लगभग 410 करोड़ रूपये  निवेश किया था।

वैसे इस बात में कोई शक नहीं है कि लगातार इतने भारी निवेश हासिल करना कंपनी के मुनाफ़े में होने को साफ़ दर्शाता है। और अगर यह बात सही है तो हमें हैरानी नहीं होनी चाहिए अगर कंपनी आगामी कुछ समय में और भी ऐसे निवेश प्राप्त करे, क्यूंकि निवेशक कंपनी IPO बनते ही अपनी हिस्सेदारी को कैश में भुनाने की मंशा लिए हो सकतें हैं।

इस बीच यह फंडिंग का दौर शुरू होने से पहले ही Byju’s ने घोषणा की कि कंपनी वास्तव में लाभदायक हो गई है और इस्लुये कंपनी ने इस दौर के लिए अपनी वैल्यूएशन को करीब $8 बिलियन के लगभग आँका है।

आपको बता दें कंपनी ने 31 मार्च, 2019 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में 20.16 करोड़ रूपये की शुद्ध आय दर्ज की थी। यह स्टार्टअप अब देश का तीसरा सबसे अधिक वैल्यूएशन वाला स्टार्टअप बन चुका है, पहले नंबर पर जहाँ Paytm $16 बिलियन की वैल्यूएशन के साथ है, वहीं दूसरे स्थान पर OYO $10 बिलियन की वैल्यूएशन के साथ काबिज है।

इस बीच Byju’s के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ), बायजू रवींद्रन ने अपने बयान में कहा,

“हम देश भर के छोटे शहरों में अपने लर्निंग कार्यक्रमों के लिए बढ़ती स्वीकृति को देखकर खुश हैं। आज, हमारे 65% से अधिक छात्र टॉप 10 शहरों के बाहर से आते हैं। और यह इस बात का प्रमाण है कि कैसे तकनीक उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षण सामग्री के जरिये छात्रों को सहूलियत प्रदान कर रही है, भले ही वह कहीं से भी आते हों।”

दिलचस्प रूप से Byju’s ने 42 मिलियन रजिस्टर्रड उपयोगकर्ताओं का आँकड़ा पार कर लिया है, जिनमें से 3 मिलियन से अधिक ग्राहक पेड हैं।

बता दें यह ऐप 2011 में शुरू हुआ था, और यह एक ऐसा समय था जब भारतीय बाजार में स्मार्टफोन्स उतने अधिक नहीं थे। लेकिन समय के साथ हालत जैसे जैसे बदले और लोगों को सस्ते दरों में स्मार्टफ़ोन और डेटा उपलब्ध हुए, तब से Bjyu’s और ऐसी तमाम सेवाओं का प्रसार बढ़ा है। और अब दुनिया भर में शिक्षा को तकनीक से जोड़ने का दावा करने वाले प्लेटफ़ॉर्म बढ़ रहें हैं और जो इस क्षेत्र के लिए काफी सुखद चीज़ है।

खास यह है कि Byju’s अब तक लगभग $1.45 बिलियन की कुल राशि निवेश के तौर पर हासिल कर चुका है, जिसमें इस साल हासिल किये गये $200 मिलियन के दो दौर भी शामिल हैं। कंपनी के निवेशकों की सूची में Tencent, और Naspers जैसे नाम भी शुमार हैं।

खैर! दिलचस्प यह भी देखना होगा कि कंपनी के सीईओ बायजू रवींद्रन इस निवेश का उपयोग कैसे करते हैं और Bjyu’s को और आगे ले जाने के लिए इसी दिशा चुनते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published.