jeff-bezos-to-step-down-from-ceo-of-amazon-in-third-quarter

Amazon ट्रिलियन डॉलर मार्केट कैप क्लब में वापस आ चुका है, जी हाँ! कंपनी ने पांचवें सदस्य के रूप में वापसी की है।

देखा जाए तो नए दशक की शुरुआत इस ई-कॉमर्स दिग्गज कंपनी के लिए काफी शानदार रही है और यह चौथी अमेरिकी कंपनी बन गई है जो $1 ट्रिलियन की वैल्यूएशन को छू सकी है।

कुछ ही दिनों पहले Google की पैरेंट कंपनी Alphabet भी इस क्लब में शुमार हुई थी। इस क्लब में कंपनी की एंट्री का कारण सामने आए राजस्व आँकड़ो में वृद्धि है। इस वृद्धि का कारण Amazon Prime के नए ग्राहकों का भारी संख्या में प्लेटफ़ॉर्म से जुड़ना और रिटेल बिज़नेस में छुट्टियों के मौसम में अपने प्रतिद्वंद्वियों को हरा कर आगे निकलना है।

दरसल गुरुवार को Amazon ने अपनी चौथी तिमाही की राजस्व रिपोर्ट की घोषणा की, जिसमें कंपनी का राजस्व बढ़ता नज़र आया। वैसे कहीं न कहीं इस उपलब्धि का श्रेय करीब उन 51 ब्रोकरेजों को भी देना चाहिए, जो अपने सालाना लक्ष्य तक पहुँचने के लिए Amazon स्टॉक बेच रहे हैं, जिससे शुरुआती कारोबार $2,036 की वैल्यूएशन में आकर करीब 9% बढ़ा है।

आपको बता दें Amazon इस ट्रिलियन डॉलर क्लब में नया नहीं है। कंपनी काफी बार इस लिस्ट में शामिल होती रही है। हालांकि इस बार आंकड़ों को देखे तो Amazon मात्र कहने भर के लिए इस लिस्ट में शामिल हुआ है।

Reuters के अनुसार, बेंचमार्क विश्लेषकों का मानना है कि Amazon ने दुनिया को अपने “आकार और क्षमता” की याद दिलाई है और अपने मूल्य लक्ष्य को $150 से बढ़ाकर $2,400 कर दिया है।

खैर! आइए कंपनी के राजस्व लाभ के बारे में बात करते हैं, जिसके चलते कंपनी यह सब सुर्खियाँ बटोर रही है। दरसल Amazon ने शुद्ध बिक्री में 21% की वृद्धि दर्ज करते हुए $87.4 बिलियन के आँकड़े को छुआ। वहीँ AWS सेवाओं के राजस्व में 34% की वृद्धि के साथ ही साथ डेटा की बिक्री और क्लाउड कंप्यूटिंग डिवीजन और सब्सक्रिप्शन से राजस्व में 32% की वृद्धि भी देखी गई।

मार्केटवॉच की रिपोर्ट के अनुसार Amazon ने विज्ञापन सहित अन्य बिक्रियों के जरिये 41% की वृद्धि दर्ज की है। फोर्ब्स का कहना है कि Amazon सार्वजनिक क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर बाजार की लगभग आधी हिस्सेदारी रखता है और इस तेजी से बढ़ते बाज़ार का नेतृत्व करता नज़र आता है।

इसके साथ ही कंपनी ने छुट्टियों के सीजन में बढ़ी शिपिंग और अपने Prime Members के आंकड़ों में भी इजाफे देखे, जिसका सीधा असर कंपनी के राजस्व में भी दिखा।

वहीँ इन आँकड़ो के सामने आने के बाद Amazon के फाउंडर और सीईओ Jeff Bezos ने कहा,

“ग्राहकों की संख्या साल दर साल Prime Membership के पैमाने में बढ़ रही है। अब हमारे पास दुनिया भर में 150 मिलियन से अधिक Prime Member हैं।”

दिलचस्प बात यह है कि इस 150 मिलियन के आँकडे में 50% की हिस्सेदारी कंपनी ने पिछले दो वर्षों में हासिल की है।

इस बीच विश्लेषकों का यह अनुमान है कि Visa और Mastercard इस ट्रिलियन डॉलर के क्लब में शामिल होने वाली पहली गैर-तकनीकी कंपनियां हो सकती हैं। आपको बता दें इस क्लब में फ़िलहाल Apple, Alphabet (Google Parent) और Microsoft के साथ ही साथ सऊदी की तेल कंपनी Aramco भी शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.