भारत में एक अनुमान के मुताबिक 2020 की पहली छमाही तक बाजार में उपयोगकर्ताओं के लिए 5G फोन की उपलब्धता दर्ज हो जाएगी।

इस बीच आपको यह भी बता दें  कि सरकार अप्रैल-जून तिमाही में ही 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी करने की योजना बना रही है।

दरसल रिसर्च फर्म TechArc के अनुसार इस साल 2020 में भारतीय फ़ोन बाजार में 15-18 प्रीमियम या लक्ज़री श्रेणियों (30,000 रुपये से ऊपर की कीमत) के 5G फ़ोन पेश किए जाएंगे।

वहीं दिलचस्प रूप से इंटरनेशनल डेटा कॉरपोरेशन का कहना है कि कंपैटिबिलिटी फैक्टर के कारण, कंपनियां 2020 में 4G और 5G दोनों वेरिएंट्स के साथ सामने आएंगी, जबकि पूर्ण तौर पर 5G फोनों की बिक्री 2021 से ही शुरू हो सकेगी।

इस बीच चीनी स्मार्टफोन निर्माता Xiaomi ने कहा है कि वह वैश्विक स्तर पर लगभग 10 5G मॉडल लॉन्च करेगी।

इसके साथ ही कुछ ही समय पहले भारतीय बाजार में शामिल हुई, Realme 2020 की पहली तिमाही में अपना पहला 5G फ्लैगशिप डिवाइस लांच करने का लक्ष्य लेकर चल रहा है।

वहीं Oppo, Vivo, OnePlus और Samsung जैसी कंपनियोंने भी 2020 में 5G स्मार्टफोन पेश करने की योजना जाहिर की है।

ख़ास यह है कि TechArc के अनुसार इस साल भारत में 1.5 मिलियन 5G फोन बेचे जाएंगे, जो देश की कुल स्मार्टफोन बिक्री का लगभग 1% हो सकतें हैं।

वहीं आपको बता दें Samsung, OnePlus, Huawei, Vivo, Oppo, Xiaomi और Micromax पहले से ही अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और यूरोप में अपने-अपने 5G फोन बेच रहें हैं।

साथ ही Qualcomm (Snapdragon), MediaTek (Dimnesty), Samsung (Exynos) और Huawei (Kirin) भी 5G तकनीक को सपोर्ट करने वाले और भी बेहतर प्रोसेसर डिजाइन कर रहे हैं।

भारत में प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार में अग्रणी OnePlus ने देश से पायलट प्रोजेक्ट केे आधार पर 5G स्मार्टफोन का निर्यात शुरू कर दिया है।

Qualcomm ने भी कथित तौर पर कहा है कि भारत अगली दो तिमाहियों में 5G तकनीक के लिए तैयार हो जाएगा।

वहीं विश्लेषकों का मानना है कि स्मार्टफोन कंपनियां टेलीकॉम द्वारा 5G नेटवर्क रोलआउट से पहले उपकरणों के साथ तैयार रहना चाहती हैं। और स्पेक्ट्रम नीलामी से पहले ही भारत में 5G परीक्षण शुरू करने की योजना बना रहीं हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *