lenskart-launches-lenskart-vision-fund-to-invest-in-startups

भारत में चश्में का ऑनलाइन रिटेलर Lenskart काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है। और एक बार फ़िर से इसके पीछे Softbank की भूमिका अहम हो जाती है। 

दरसल Softbank ने एक बार फ़िर से Lenskart की वैल्यूएशन बढ़ा दी है। भारत की कंपनी नियामक (Paper.vc के माध्यम से) में दाखिल किए गए कागजात के अनुसार Lenskart ने Softbank Vision Fund-2 के नेतृत्व में फंडिंग हासिल की है।

असल में दायर दस्तावेजों के अनुसार कंपनी ने 12 दिसंबर, 2019 को 22,976,465 (22.9 मिलियन) सीरीज जी के SVF II (Cayman Islands) Lightbulb के लिए शेयरों के आवंटन को मंजूरी देते हुए एक बोर्ड प्रस्ताव पारित किया था।

सौदे के हिस्से के रूप में, SVF ने 714 रूपये (~ $ 10) प्रति शेयर का भुगतान करके 1645 करोड़ रूपये (~ $231M) का निवेश किया है।

साथ ही दिलचस्प यह है, कि इस निवेश के बाद Lenskart का मूल्यांकन $1 बिलियन से बढ़कर $1.5 बिलियन के आसपास बताया जा रहा है।

वैसे अगर कहा जाये कि Lenskart का शानदार हाइब्रिड ईकॉमर्स मॉडल उन कुछ चुनिंदा भारतीय ईकॉमर्स ब्रांड मॉडलों में से एक है, जिन्होंने लगातार तेजी से सफ़लता का स्वाद चखा है।

दरसल कंपनी ऑफ़लाइन + ऑनलाइन हाइब्रिड मॉडल पर काम करती है, जिसमें वह अपने ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म के साथ-साथ भारत में ऑफलाइन स्टोर्स की एक श्रृंखला के माध्यम से भी आईवियर उत्पाद प्रदान करती है।

इसके साथ ही Lenskart की अपनी विनिर्माण सुविधाएं भी हैं, जिसमें कंपनी 300,000 फ्रेम प्रति माह बनाने के लिए लगभग $5 मिलियन का निवेश भी किया है।

इसके साथ ही कंपनी ने हाल ही में घोषणा की कि उसने इस वित्त वर्ष में लाभ अर्जित किया है, क्योंकि इसके ऑफ़लाइन व्यवसाय ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है।

आपको बता दें Lenskart के राजस्व में 63.2% की वृद्धि दर्ज की गई है, इसके साथ ही इसके घाटों के आँकड़े में करीब 73.2% की कमी आई है।

वित्त मंत्रालय के कॉर्पोरेट संचालन मंत्रालय (MCA) में दायर कंपनी के विनियामक फाइलिंग के अनुसार वित्त वर्ष 2019 में इसका कुल परिचालन राजस्व 474.31 करोड़ रुपये रहा, जो वित्त वर्ष 2018 में महज़ 292.35 करोड़ रुपये ही था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.