31 मार्च को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष 2019 में एजुकेशनल टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म Byju’s के मालिकाना हक वाली कंपनी Think and Learn ने 20.16 करोड़ रुपये की कमाई की है।

और इसके साथ ही Byju’s उपभोक्ता इंटरनेट स्टार्टअप क्षेत्र में लाभ कमाने वाला पहला यूनिकॉर्न स्टार्टअप बन गया है।

आपको बता दें Byju’s ने वित्त वर्ष 2018 में 28.65 करोड़ रुपये का नुकसान उठाया था। बेंगलुरु आधारित यह कंपनी लाभ कमाने में इसलिए कामयाब हो सकी है, क्यूंकि इसके पेड उपयोगकर्ताओं की संख्या वर्तमान में लगभग 2.8 मिलियन बढ़ी है।

Byju’s का दावा है कि इसके प्लेटफ़ॉर्म पर फ़िलहाल 40 मिलियन रजिस्टर्ड उपयोगकर्ता हैं।

हालाँकि वित्त वर्ष 2019 में कुल खर्च पिछले साल के 518.52 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,321.65 करोड़ रुपये हो गया। इसका कारण कंपनी में कर्मचारियों की संख्या और प्रचार प्रसार को बताया है।

वहीँ साथ ही इस वित्त वर्ष 2019 में कंपनी की कुल आय भी 490 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,341 करोड़ रुपये हो गई है।

साथ ही कंपनी को अब 2019-20 के वित्तीय वर्ष में 3,000 करोड़ रुपये के राजस्व कमाने की उम्मीद है। Byju’s के COO मृणाल मोहित ने एक बयान में कहा;  

“छोटे शहरों और मेट्रो शहरों में हमारे आधार का विस्तार और नए उत्पादों की पेशकश हमारी वृद्धि में महत्वपूर्ण रोल अदा कर रही है। हमारा यह प्रदर्शन पूरे भारत में डिजिटल लर्निंग की बढ़ती स्वीकृति को दर्शाता है। हमारे प्लेटफ़ॉर्म पर 60% छात्र मेट्रो शहरों के बाहर से हैं।” 

इस बीच आपको बता दें Byju’s के निवेशकों की सूची में General Atlantic, Naspers, Verlinvest, Sequoia Capital, Qatar Investment Authority, Tencent, Owl Ventures और CPPIB जैसे बड़े नाम शामिल हैं।

वहीँ वर्तमान में कंपनी का मूल्यांकन $6.5 बिलियन है, जो इसे भारत का सबसे अधिक वैल्यूएशन वाला स्टार्टअप बनाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *