ola-dash-to-deliver-groceries

देश और अधिकतर दुनिया में एक जाना माना नाम बन चुके भारतीय कैब सेवा प्रदाता स्टार्टअप Ola ने आज यह ऐलान किया कि कंपनी आगामी हफ्तों में जल्द ही लंदन में भी अपना परिचालन शुरू करेगी।

दिलचस्प यह है कि यह ऐलान Uber का स्थानीय अधिकारियों द्वारा संचालन लाइसेंस रद्द करने के एक दिन बाद ही किया गया है। और अब इसी के साथ ही यह साफ़ हो गया है कि Ola बा न सिर्फ़ देश में बल्कि ग्लोबल स्तर पर भी Uber को टक्कर देने का पूरा मन बना चुकी है।

आपको बता दें इसी श्रृंखला में Ola ने पिछले ही साल ब्रिटेन के कुछ हिस्सों में अपना संचालन शुरू किया था और अब कंपनी ने लंदन में लांच से पहले ही ड्राइवरों को साइन अप करना शुरू कर दिया है।

आपको बता दें Ola अब तक करीब $3.5 बिलियन का कुल निवेश हासिल कर चुका है और इसके साथ ही यह दुनिया के हर कोने में कैब सेवा प्रदाता क्षेत्र में प्रवेश कर वहां के बाज़ारों में अग्रणी बनने का प्रयास कर रहा है।

शायद यही कारण है कि कंपनी का उद्देश्य लंदन में 50,000 ड्राइवरों को ऑन-बोर्ड करने का है, और खास यह है कि यह लंदन में Uber के मौजूदा आकार से काफी अधिक है। आपको बता दें Ola ने इस साल कीरू में ट्रांसपोर्ट फॉर लंदन (TfL) से एक ऑपरेटिंग लाइसेंस प्राप्त किया था।

लेकिन Ola-Uber के बीच की इस जंग में एक और दिलचस्प पहलु यह है कि इन दोनों कंपनियों में ही Softbank ने निवेश किया है।

इस बीच Ola का यह भी दावा है कि कंपनी अब तक ब्रिटेन में 27 शहरों में 7 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं को अपनी सेवाएं प्रदान कर चुकी है।

वहीँ अपनी ओर ड्राइवरों को आकर्षित करने के लिए Ola ने “अनुकूल कमीशन” चार्ज करने का भी मन बनाया है, और यह सुनिश्चित करने की कोशिश की है कि ड्राइवर्स अधिक से अधिक कमाई कर सकें।

इस बीच आँकड़ो की बात करें तो भारत में एक Ola Driver पार्टनर को यात्री किराये का 70-74% के बीच मिलता है और साथ ही उसको बीच-बीच में अन्य “प्रोत्साहन राशि” भी प्रदान की जाती हैं।

इस बीच Ola के अंतर्राष्ट्रीय संचालन का नेतृत्व करने वाले साइमन स्मिथ ने कहा है कि फर्म का मोबिलिटी प्लेटफ़ॉर्म TfL के मानकों का पूरी तरह से अनुपालन करता है।

उन्होंने एक बयान में कहा,

“हमने पिछले महीनें में लंदन में अधिकारियों, ड्राइवरों और स्थानीय समुदायों के साथ बातचीत करके लोगों को एक शानदार कैब सेवा प्रदान करने का काम करने की दिशा तय की है।”

इस बीच आपको बता दें कि Uber के प्लेटफ़ॉर्म पर 14,000 से अधिक ऐसी ट्रिप पाने पर, जिनमें ड्राईवर्स की गलत पहचान प्रदान की गई थी, कंपनी का लाइसेंस छीन लिया गया है। हालाँकि यह कंपनी के लिए कोई नई बात नहीं है, इसके पहले भी एक बार Uber का लाइसेंस रद्द किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *